gaurikund uttrakhand | gauri temple | tapt kund

गौरीकुंड केदारनाथ धाम की 16 किमी की यात्रा का प्रारंभिक बिंदु है। यह समुद्र तल से 1,982 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। इस स्थान का नाम भगवान शिव की पत्नी पार्वती के नाम पर पड़ा। यहां गौरी मंदिर और तप्त कुंड स्थित है।

मिथकों और किंवदंतियों के अनुसार यह वह स्थान है जहां भगवान शिव की पत्नी पार्वती ने तपस्या की थी और भगवान शिव के हृदय पर विजय प्राप्त की। ऐसा माना जाता है कि भगवान शिव ने इस स्थान पर पार्वती से विवाह करना स्वीकार किया था और उनका विवाह त्रिजुगीनारायण नामक स्थान पर हुआ। 


Goddess Gauri Temple at Gaurikund district Rudraprayag Uttrakhand
Goddess Gauri Temple Gaurikund


Gaurikund according to Uttarakhand Tourism

Latitude 30 0 44 ' 4.73 " n

Longitude 79 0 4 ' 0 . 82 " e

Altitude 3583 mt


Nearest place ti visit from garikund

Ukhimath : 42 km

Trijugi narayan : 20 km

Sonpryayag : 9 km

Kedarnath  : 14 km.



Gaurikund according to Uttarakhand Tourism
uttrakhand tourism


Gaurikund thermal springs, or hot springs.

थर्मल स्प्रिंग्स या गर्म पानी के कुंड, आमतौर पर उत्तराखंड के ऊपरी हिमालयी क्षेत्रों के भूभौतिकीय क्षेत्र में पाए जाते हैं।  ये गर्म पानी के झरने बेहद गर्म होते हैं। इनमे स्थानीय लोगों, तीर्थयात्रियों और पर्यटकों  स्नान करते हैं।  ये सालभर गर्म रहते हैं। 


Gaurikund thermal springs, or hot springs.
मां गौरी स्नान कुंड 



goddess gauri temple at gaurikund
gauri temple

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ